Sukanya Samridhi Account : मार्च से पहले करे ये काम नहीं तो बंद हो जाएगा खाता

Sukanya Samridhi Account : सुकन्या समृद्धि अकाउंट केंद्र सरकार द्वार बालिकाओं के भविष्य को ध्यान में रख कर चलाई जा रही एक महत्त्वकांची योजना है। केंद्र सरकार की इस योजना के बारे में आज हम इस आर्टिकल में विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे। सुकन्या समृद्धि अकाउंट के बारे में विस्तार पूर्वक जानने के लिए हमारा पूरा आर्टिकल पड़े।

केंद्र सरकार द्वारा बालिकाओं और महिलाओं बच्चों के हित में अनेक योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। इनमे से सबसे ज्यादा ध्यान सरकार का बेटियो को पढ़ाने उनके भविष्य को सुदृढ़ बनाने तथा उन्हें आत्म निर्भर बनाने के लिए सरकार अग्रसर है। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बेटियो के भविष्य को ध्यान में रख कर लंबे समय के लिए इन्वेस्ट किया जाता है। ये खाते बेटियो के नाम पर केंद्र सरकार द्वारा खुलवाए गए है। इन्ही खातों में कुछ परिवर्तन किया गया है। पहले खाता खुलवाकर मिनिमम बैलेंस रखने का नियम नही था परंतु इस समय केंद्र सरकार द्वारा बैंक को दिए गए आदेश में जारी किया गया है की सुकन्या समृद्धि खाते में मिनिमम बैलेंस रखना अनिवार्य है। सुकन्या समृद्धि खाते में अगर 250 रुपए से कम बैलेंस हुआ तो bo खाता बंद हो जाएगा और उस खाते को खुलवाने के लिए या वापस चालू करवाने के लिए आपको पेनल्टी देनी पड़ेगी। इसलिए मार्च आने के पहले चेक कर ले की आपके सुकन्या समृद्धि खाते में कही जीरो बैलेंस तो नहीं है नही तो आपका खाता भी बंद हो जाएगा।

Sukanya Samridhi Account क्या है जाने विस्तार से

केंद्र सरकार द्वारा बालिकाओं बेटियो के उज्जवल भविष्य के लिए तथा उन्हें आर्थिक रूप से सहायता करने के लिए इस योजना का शुभारंभ किया गया था। सरकार इसमें बेटियो के नाम पर उनके जन्म के समय बैंक खाता खुलवाती है तथा इस बैंक खाते में जमा राशि पर 8.2 % का वार्षिक ब्याज सरकार द्वारा दिया जाता है। जिस बालिका के नाम पर खाता खुला है उसके खाते में उसके माता पिता द्वारा एक वर्ष के अंदर न्यूनतम 250 रुपए तथा अधिकतम 150000 रुपए प्रति वर्ष जमा करवाए जा सकते है। इसी राशि पर सरकार द्वारा वार्षिक ब्याज दिया जाता है। ये राशि आपको 18 वर्ष तक जमा करनी होती है 18 वर्ष में ये राशि का आप 50% तक निकल सकते है शेष राशि को उसके विवाह के समय निकल सकते है। इसका मुख्य उद्देश्य जब बालिका 18 वर्ष की होगी तो उसकी पढ़ाई में खर्चा बडेगा और उस समय उसके माता पिता पर इसका बोझ न बड़े इसके लिए सरकार द्वारा इस अकाउंट के माध्यम से सेविंग के बचत के तौर पर एक पहल की गई है।

Tax return में मिलेगी छूट

अगर आप सुकन्या समृद्धि खाता धारक के पिता है तो आपको सरकार द्वारा टैक्स भरने में छूट प्रदान की जाएगी। ये छूट ₹150000 तक की होगी अगर आप एक वित्तीय वर्ष में 1.5 लाख रुपए जमा करते है तो आपको टैक्स में भी इतनी ही छूट मिलेगी। सरकार द्वारा इस योजना को बड़ाबा देने के लिए इस प्रकार की छूट प्रदान की जाती है।

पेनल्टी कितनी लगेगी

अगर आप खाते में 250 रुपए से कम की राशि रखते है तो एक वित्तीय वर्ष में आपको तो आपको एक वित्तीय वर्ष के अनुसार ₹50 की पेनल्टी प्रति वर्ष के अनुसार लगेगी और साथ में आपका खाता बंद कर दिया जायेगा। इन सब से बचने के लिए आपको चाहिए की आप आपके खाते का मिनिमम बैलेंस ही कम न होने दे जिससे इन सब समस्याओं का सामना आपको न करना पड़े

योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है

सुकन्या समृद्धि खाता का मुख्य उद्देश्य बच्ची के जन्म के समय से ही उसके भविष्य को निश्चित करने के लिए उसे बेहतर जीवन प्रदान करने के लिए छोटी छोटी बचत के तौर पर इस खाते की शुरुआत की गई है। इसमें बैंक भी अच्छा ब्याज दर प्रदान करती है। भविष्य में बेटी की पढ़ाई उसकी शादी में होने वाले खर्च को ध्यान में रख के इस योजना को संचालित की जा रहा है। इससे बेटियो का भविष्य उज्जवल होगा केंद्र सरकार का लक्ष्य बेटियो को समृद्ध और आत्म निर्भर बनाना है। वर्तमान समय में बेटियो के पढ़ाने और उनके शादी समारोह में पैसे की दिक्कत का सामना करना पड़ता है इसी को देखते हुए सरकार द्वारा यह कदम उठाया गया है। भविष्य की आने वाली समस्याओं का निवारण अभी किया जा सके।

Leave a comment