PM Svanidhi Yojna : खुद का बिजनेस शुरू करने के लिए सरकार दे रही है ₹50000 रुपए, ऑनलाइन करें आवेदन

Pm Swanidhi yojna 2024: नमस्कार दोस्तो आज हम आपको केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजना विकसित भारत संकल्प योजना के अंतर्गत पीएम स्वनिधि योजना के बारे में विस्तार पूर्वक बताने जा रहे है। इस योजना का लाभ कैसे ले, ये योजना किसके लिए है इस योजना का उद्देश्य क्या है इन सभी प्रश्नों का उत्तर हमारे इस आर्टिकल में आपको मिलेगा। केंद्र सरकार द्वारा बेरोजगार शहरी युवाओं के लिए चलाई जा स्ट्रीट वेंडर स्कीम के अंतर्गत इस योजना को स्टार्ट किए गया है स्ट्रीट वेंडर में ₹10000 थे परंतु इस योजना में राशि को बड़ाकर ₹50000 रुपए कर दिया गया है जिससे युवक अपना खुद का बिजनेस स्टार्ट कर सके। साथ ही इस योजना में सरकार द्वारा बिना किसी गारंटी के लोन देने का प्रावधान किया गया है।

पीएम स्वनिधि योजना क्या है

आज का युवा बेरोजगारी की मार को झेल रहा है इस समस्या का समाधान निकालने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं का संचालन किया जा रहा है जिनमे से एक योजना है पीएम स्वानिधि योजना इस योजना में सरकार बेरोजगार युवकों की आर्थिक मदद के लिए उनके बैंक खाते में सीधे 50 हजार रुपए ट्रांसफर करती है। जिससे उनको आर्थिक मदद मिलती है तथा बो अपना स्वम का नया बिजनेस स्टार्ट कर सकते है। आज के वर्तमान समय में सरकारी नौकरी मिलना कठिन होता है सरकार का प्रोयोजन है की बो युवाओं को रोजगार लेने वाला नहीं बल्कि रोजगार देने वाला व्यक्ति बनाए इसलिए इसी ध्येय वाक्य को सार्थक करने के लिए सरकार द्वारा ₹50000 रुपए की आर्थिक मदद शहरी बेरोजगार युवकों के लिए दी जा रही है। इस राशि से वो अपनी मन चाही बिजनेस को शुरू कर सकते है इस पर सरकार द्वारा कोई ब्याज भी नही लिया जा रहा है। लोन को वापस करने में भी सरकार द्वारा राहत दी गई है।

पीएम swanidhi योजना का लाभ कैसे ले

पीएम स्वानिधि योजना का लाभ लेने के लिए व्यक्ति को शहर का निवासी होना चाहिए। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री मोहन यादव द्वारा केंद्र सरकार की इस स्कीम को लागू किया गया है। शहर के युवक के पास रोजगार के अवसर प्रदान करना तथा 50000 रूपये की मदद से उसे खुद का रोजगार स्थापित करने के लिए प्रेरित करना इस योजना का मूल उद्देश्य है। इस योजना में सरकार द्वारा 50000 रुपए की मदद बिना किसी शर्त के साथ की जाती है जिसमे बेरोजगार व्यक्ति कोई भी व्यापर करने के लिए स्वतंत्र होता है। इस योजना का लाभ लेने के लिए आप ऑनलाइन या ऑफलाइन मध्यम से फॉर्म भर सकते है हमारे द्वारा आपको दोनो प्रकार से अवगत कराया जायेगा।

योजना का फॉर्म कैसे भरे

योजना का फॉर्म भरने के आपको प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई जा रही विकसित भारत योजना की रैली या आपके जिले में पहुंची इस यात्रा का इंतजार करना होगा जिसके तहत आप जैसे ही ये यात्रा आपके जिले में पहुंचती है आपको उसके बाद नगर पालिका में जाकर एक पीएम swanidhi योजना का आवेदन प्राप्त करना होगा। दिए गए फॉर्म निम्न दस्तावेज को मांगा जाएगा।

  • लाभ लेने वाले व्यक्ति का जॉब कार्ड बिना जॉब कार्ड के आपको इसका लाभ नहीं मिलेगा नजदीकी नगरपालिका अथवा नगरनिगम से अपना जॉब कार्ड बनवा ले।
  • राशन कार्ड या बीपीएल कार्ड जिसमे आपका नाम शामिल हो
  • समग्र आईडी जिससे आपके परिवार की जानकारी प्राप्त हो सके।
  • स्थाई पते के लिए एक वोटर कार्ड चाहिए होगा।
  • आधार कार्ड
  • बैंक खाते की पासबुक
  • पैन कार्ड
  • मोबाइल नंबर

इन सभी दस्तावेजों को आप अपने शहर की नजदीकी नगर पालिका, नगर पंचायत में जमा करवा सकते है। जिससे की बो आपके दस्तावेजों का सत्यापन कर सके। दस्तावेज सत्यापन होने के बाद आपको नगरपालिका से फोन आया की आपका लोन वेरिफाई हो गया है। इस लोन में आपको किसी भी गारंटर की जरूरत नहीं है। लोन मंजूर होने के बाद आपके खाते में सरकार द्वारा राशि ट्रांसफर कर दी जाएगी।

Pm Swanidhi yojna के पैसे कैसे आयेंगे खाते में

पीएम स्वनिधि योजना में आवेदक के खाते में राशि 3 किस्तो में आयेगी जिसको वह अपने बैंक खाते से निकाल सकता है।

  • पहली किस्त 10000 रूपये की होगी
  • दूसरी किस्त 30000 रुपए की होगी
  • तीसरी किस्त 50000 रुपए की होगी

राशि किस्तू में रखने का मुख्य उद्देश्य सरकार द्वारा यह चेक किया जाता है की वेंडर द्वारा अपना खुद का बिजनेस शुरू किया गया है या नहीं नही तो सरकार के पैसे का दुरुपयोग हो रहा हो। प्रथम किस्त खाते में डालने के बाद बैंक के साथ स्थानीय नगरपालिका कर्मचारी अधिकारी आपकी दुकान को देखने के लिए आते है तथा सुनिश्चित करते है की आपके द्वारा व्यापार के लिए लिया गया लोन आपके व्यापार के काम में ही उपयोग हो रहा है या नहीं। अगर ऐसा nhi ho रहा तो वह आपके आगे की किस्तों को निरस्त कर देते है। जिससे इसका लाभ किसी ऐसे व्यक्ति को मिल सके जिसकी उसको सच में जरूरत हो।

योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है

योजना का मुख्य उद्देश्य भारत में बाद रही बेरोजगारी की दर को कम करना है। इसी उद्देश्य से युवाओं की मदद सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के रूप में की जा रही है इस योजना की मूल को 2020 में स्ट्रीट वेंडर के नाम से शुरुआत भारत के प्रधानमंत्री द्वारा कोरोना की महामारी के समय की गई थी। इसी योजना को आगे बढ़ाते हुए 2024 में इसमें swanidhi योजना को जोड़ा गया है जिससे इसका लाभ और इसके आकर में परिवर्तन किया गया है पहले स्ट्रीट वेंडर में ₹10000 रुपए दिए जाते थे परंतु इसमें उन्हें बड़ाकर ₹50000 रुपए की राशि कर दी गई है। ₹50000 रुपए की मदद से व्यक्ति अपना बिजनेस अच्छे से शुरू कर सकता है।

Leave a comment