मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना 2024 : किसानों के खाते में आयेंगे ₹2000 रूपये लेकिन आधार कार्ड को जमीन की किताब से करना होगा लिंक

Mukhyamantri Kisan Kalyan yojna 2024 : नमस्कार दोस्तो हमारे ब्लॉग में आपका स्वागत है इस आर्टिकल में हमारे द्वारा आपको बताया जाएगा कि जमीन की किताब को आधारकार्ड से लिंक कैसे करे जिससे आपके खाते में आने वाली ₹2000 की किस्त में कोई रुकावट पैदा ना हो लिंक करने की विधि ऑनलाइन आवेदन का प्रकार की संपूर्ण जानकारी के लिए पूरा आर्टिकल पड़े।

भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही पीएम किसान कल्याण योजना की तर्ज पर मध्यप्रदेश के किसानों के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने इस योजना का शुभारंभ किया था जिसमे केंद्र सरकार द्वार मिलने वाली राशि 6000 में मध्यप्रदेश सरकार द्वारा और 6000 रूपये जोड़ कर दिए जाते हैं जिससे किसान के पास कुलमिलाकर 12000 सालाना की राशि उसके खाते में ट्रांसफर की जाती है। यह राशि प्रत्येक 4 महीने में दी जाती है। इस योजना में कुछ परिवर्तन किए गए है अब किसानों को मिलने वाली राशि के लिए किसान के नाम की भूमि का उसकी जमीन की किताब का उसके आधार कार्ड से लिंक होना आवश्यक कर दिया है। अगर खाताधारक की भूमि आधारकार्ड से लिंक नहीं होगी तो किसान के खाते में आने वाली किस्त को सरकार द्वारा होल्ड पर रख दिया जायेगा तथा वो किस्त उसके खाते में नहीं आयेगी

मध्यप्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही इस योजना में सभी किसानों को शामिल किया गया है जिनके नाम पर भूमि है ये योजना मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए तथा उनके आत्म सम्मान को बड़ाबा देने के लिए इस योजना का चलाया गया था।

मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के लिए पात्रता

मध्यप्रदेश सरकार द्वारा किसानों को आर्थिक लाभ प्रदान करने के लिए चलाई जा रही योजना में पात्र किसानों के लिए शर्ते निम्नानुसार हैं।

  • योजना का लाभ लेने वाला किसान मध्यप्रदेश का मूलनिवासी होना चाहिए।
  • लाभ प्राप्त करने वाले किसान की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए
  • किसान के पास 10 बीघा जमीन से ज्यादा जमीन नहीं होनी चाहिए।
  • किसान का किसी भी प्रकार के लाभ के पद पर पदस्थ नहीं होना चाहिए। न ही वह सरकारी नौकरी में होना चाहिए।
  • किसान के नाम पर भूमि होना आवश्यक है।
  • अगर परिवार में शामिल खाता है भूमि की किताब में एक से अधिक नाम है तो इस योजना का लाभ उन में से किसी एक व्यक्ति को ही मिलेगा।
  • बंजर पड़त भूमि की जानकारी देनी होगी।

इन सभी शर्तो का पालन जो किसान करता होगा उसको ₹2000 की किस्त मिलेगी जो सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के स्वरूप होगी।

आधार कार्ड को जमीन की किताब से लिंक कैसे करे

मध्यप्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना में परिवर्तन किया गया है पहले आधारकार्ड को जमीन की।किताब से लिंक नहीं किया जाता था परंतु इसमें हो रही धांधली तथा गलत लोगो को पहुंच रहे पैसे की रोकथाम करने के लिए सरकार द्वारा कठोर कदम उठाए गए है जिससे किसी किसान के हक का पैसा कोई और न छीन पाए। आधारकार्ड लिंक होने से किसान को जमीन का कुल हिस्सा तथा उसके बैंक की डिटेल्स स्पष्ट हो जायेगी। आधार कार्ड लिंक करने के लिए निम्न स्टेप्स फॉलो करे

  • मुख्यमंत्री किसान कल्याण की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं जिसका लिंक आपको नीचे दिया गया है
  • ऑफिशियल वेबसाइट — click here इस पर क्लिक करे या https://saara.mp.gov.in/ से क्लिक करके वेबसाइट को खोल ले
  • अपने मोबाइल नंबर को OTP से verification करके लॉगिन कर ले
  • आधार कार्ड OTP से आधार कार्ड को वेरिफाई कर ले
  • अब एक फॉर्म ओपन होगा उसको अच्छे से भरे मांगे दस्तावेजों को भरे तथा summit करे।
  • खाताधारक की पूरी डिटेल भरे तथा उसको लिंक to आधारकार्ड पर क्लिक करके आधारकार्ड को लिंक कर दे।
  • जैसे ही आधारकार्ड का सत्यापन हो जायेगा आपके पास एक संदेश आयेगा की आधारकार्ड को भूमि की खाते की किताब से लिंक कर दिया गया है।

अगर आप खुद आधारकार्ड को लिंक करने में असमर्थ हो तो नजदीकी कियोस्क सेंटर पर जाकर या नजदीकी लोकसेवा केंद्र में जाकर अपना आधारकार्ड अपनी भूमि से लिंक करा सकते हैं। उसके लिए आपको निम्न दस्तावेज चाहिए होंगे

  • किसान का आधार कार्ड
  • किसान की भूमि की किताब
  • किसान का मोबाइल नंबर
  • बैंक खाते की किताब

इन डॉक्यूमेंट के साथ आप कियोस्क से अपना पंजीयन करा सकते है या पटवारी को इन दस्तावेजों की प्रति देकर भी रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की किस्त किस तारीख को आयेगी

मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की किस्त प्रत्येक 4 महीने के अंतराल से आती है। इस बार ये किस्त मार्च के पहले सप्ताह में या 1 मार्च से 10 मार्च तक के बीच में। किसानों के खाते में मुख्यमंत्री द्वारा सिंगल क्लिक के माध्यम से सीधे किसानों के बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी। इस बार किस्त ₹2000 ना आकर ₹4000 आयेगी उसमे पीएम किसान सम्मान निधि का पैसा भी शामिल होकर आएगा। किसानों को आत्म निर्भर बनाने तथा उनके कल्याण के लिए इस योजना का संचालन किया जा रहा है। सालाना 12000 रुपए की मदद सरकार द्वारा किसानों को दी जा रही है।

Leave a comment